alt


-सुविधा परियोजना का संक्षिप्त परिचय

-सुविधा परियोजना, राज्य के प्रत्येक जनपद के शहरी नागरिकों को लाभान्वित करने एवं विभिन्न शासकीय सेवाओं को शहर एवं जिला स्तर पर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से परिकल्पित की गयी है। उद्देश्य निम्नवत् हैः-

·         राज्य एवं केन्द्र सरकार के विभिन्न सरकारी विभागों, अर्द्धसरकारी, संस्थागत विभागों अधिकृत संस्थाओं, स्ववितपोषी इकाईयों, निगमों एवं निकायों की चयनित एवं एकीकृत सूचनाओं सम्र्बिन्धत जानकारी तथा बिलों के निस्तारण एवं भुगतान की शासकीय (जी2सी) एवं प्राईवेट संस्थाओं की व्यवसायिक सेवाओं (बी2सी) को सूचना-प्रौद्योगिकी के माध्यम से कम्प्यूटरीकृत कर जन साधारण को उनके आवास एवं कार्यक्षेत्र के सन्निकट, उस क्षेत्र के परिचित केन्द्र बिन्दु पर स्थापित सुव्यवस्थित एवं सुसृजित एकीकृत नागरिक सेवा केन्द्र (-सुविधा केन्द्र) के सभी काउण्टर्स परएकल खिड़की समस्त सुविधाएंप्रणाली पर उपलब्ध कराना।

·         उपरोक्त सेवायें राज्य के प्रत्येक जनपद के शहरी नागरिकों को लाभान्वित करने एवं विभिन्न शासकीय सेवाओं को शहर एवं जिला स्तर पर उपलब्ध कराना।

यह परियोजना, आई0टी0 एवं इलेक्ट्राँनिक्स विभाग, उत्तर प्रदेश शासन, के अधीनस्थ सरकारी सोसाइटी के रूप में सोसाइटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के अन्तर्गत गठित की गयी है, जो -सुविधा के नाम से प्रचलित है। -सुविधा का नवीनीकरण रजिस्ट्रेशन प्रमाण संख्या 2792-2009-2010 दिनांक 14.01.10 से अगले पांच वर्ष (दिनांक 14.01.15) की अवधि तक के लिए है।

-सुविधा परियोजना के अन्र्तगत नागरिको को विभिन्न सरकारी विभागों के बिलों भुगतान सम्बन्धित सेवाओं को -सुविधा केन्द्रों परएकल खिड़की समस्त सुविधाएंप्रणाली पर मुहैया कराया गया है जिससे नागरिको को विभिन्न सरकारी विभागों के कार्यालयों में बिलों के भुगतान करने के लिए जाना ना पड़े। वर्तमान में यह व्यवस्था इन्टरानेट स्थापित करके संचालित है एवं भविष्य में समस्त सेवाओं को इन्टरनेट के माध्यम से नागरिको को उनके आवासों/घरों पर भी उपलब्ध कराया जाना प्रस्तावित है।

लखनऊ में कार्यरत 52 केन्द्रों (120 काउण्टर्स) पर मध्यांचल डिस्काम के लेसा बिजली बिल, लखनऊ नगर निगम के गृह कर, बी0एस0एन0एल0 के टेलीफोन एवं मोबाईल उपभोक्ता बिलों को जमा करने की सुविधा उपलब्ध है।

लखनऊ के साथ-साथ अन्य 12 जिलों, यथा हरदोई, बाराबंकी, लखीमपुर, सीतापुर, शाहजहापुर, पीलीभीत, रायबरेली, उन्नाव, सुल्तानपुर, फैजाबाद, बदायूँ एवं बहराइच, में कुल 49 -सुविधा केन्द्र (58 काउण्टर्स) खोले गये है जिसमें प्रारम्भिक चरण में मध्यांचल डिस्काम के बिजली बिल जमा हो रहे हैं। लखनऊ एवं अन्य जनपदों के कुल 101 केन्द्रों (178 काउण्टर्स) से लगभग 4.2-4.5 लाख उपभोक्ता प्रति माह -सुविधा द्वारा प्रदत्त सेवाए प्राप्त कर रहे है एवं लगभग रू. 120.00-150.00 करोड़ प्रति माह राजस्व प्राप्ति हो रही है।

दिनांक 29.11.2013 को मा0 मुख्यमन्त्रीजी के कर कमलों से राज्य सरकार के -गवर्नेन्स प्लान के अन्तर्गत 8 विभागों की 26 शासकीय (G2C) सेवाओं एवं सी0एस0सी-एस0पी0वी0 (CSC-SPV) संस्था की 44 व्यवसायिक सेवाओं (B2C) का प्रारम्भिक चरण में, लखनऊ शहर के 06 -सुविधा केन्द्रों से पायलट प्रोगाम का शुभारम्भ हो चुका है। साथ ही साथ 01 -सुविधा केन्द्र, जो कि वूमेन पॉवर लाईन चैराहे के निकट, लोहिया पथ पर स्थित, का भी उद्घाटन हो चुका है।


scroll back to top